ह्यूमैनिटी कॉलेजः सत्य के लिए अभियान

वैज्ञानिक से पत्रकार बने, डॉक्टर पार्थो बनर्जी अमेरिका के न्यूयॉर्क राज्य में एक जाने माने लेखक, शिक्षाविद् और एक्टिविस्ट है। उन्होंने कला, संगीत, साहित्य और सिनेमा को अपने शोध का हिस्सा बनाया। उनका लेखन और कार्यक्षेत्र समानता और सामाजिक न्याय को बढ़ावा देने वाला रहा। खासतौर से सर्वहारा वर्ग के 99 फीसदी पुरुषों और महिलाओं के लिए।  

ह्यूमैनिटी कॉलेज का मकसद एक ऐसा मल्टी मीडिया मंच स्थापित करना है जो कि न केबल परस्पर संवादमूलक हो बल्कि लोकतांत्रिक और सहभागिता के मुल्यों पर आधारित हो जहाँ शिक्षा और समालोचनात्मक सोच के साथ ऐसी कहानियों और मुद्दों को प्रकाश में लाना है जो मुख्यधारा के मीडिया में बहिष्कृत और उपेक्षित है। हमारा लक्ष्य ऐसी खबरों को सामने लाना है जो जनता को आसानी से मुद्दों की समझ करा सके।

हम ऐसा समूह हैं जहाँ अलग-अलग विचारधारा के लोग आकर खबरें देने के साथ अपने विचार साझा कर सकते हैं। उनपर आसान भाषा में चर्चा कर सकते हैं कि किस तरह से बड़े समूह, उनके मीडिया हाउस और राजनीतिक दल हमारे और हमारे बच्चों के जीवन के साथ दुनिया पर असर डाल रहे हैं।

हम सामूहिक रूप से अपनी आवाज बुलंद करने की कोशिश कर रहे हैं जिससे उन असाधारण मुश्किलों और चुनौतियों का समाधान ढूंढा जा सके जो इतने वर्षों में शासक वर्ग ने पैदा की है। 

सत्य और मानवता : दो बेहद ज़रूरी लक्ष्य, जो हमें आपस में जोड़ेंगे

साझा लक्ष्य हासिल करने की कोशिश में यह बेहद महत्वपूर्ण है कि हम सत्य और मानवता के लिए एकजुट हो जाएं। आपके बिना यह लक्ष्य हासिल करना संभव नहीं है, इसलिए हम आपको इस यात्रा में शामिल होने के लिए आमंत्रित करते हैं कि आप इस लक्ष्य प्राप्ति में हिस्सेदार बनकर अपना ज्ञान साझा करें, अपना योगदान दें और इसे लोगों तक पहुँचाने में हमारी मदद करें।